Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

सांप के काटने पर जहर का इलाज/ Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

क्या आपको पता है कि दुनिया में कितनी सापों की प्रजातियां हैं, एक रिसर्च के अनुसार यह अनुमान लगाया गया है कि दुनिया में लगभग 560 सापों की प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनमे से सिर्फ 15 सांप की प्रजातियां ऐसी हैं जो जहरीली होती हैं.

बाकी के बचे 545 सांपो की प्रजातिया ऐसी हैं जिनके काटने से मनुष्य की मृत्यु नहीं हो सकती.

भारत में दुनिया में सबसे ज्यादा सांप पाए जाते हैं. आपने भी कभी न कभी कोई ना कोई सांप जरूर देखा ही होगा.

जो लोग शहरों में रहते हैं उनको कोई डर नहीं, पर गॉंव के इलाके या जंगल में बहुत सारे जहरीले सांप पाए जाते हैं.

गॉंव जैसे इलाकों में तो घरों में भी सांप मिलते हैं, तो ऐसे में अगर सांप किसी को काट ले तो क्या करना चाहिए.

इसकी जानकारी अधिकतर लोगों के पास नहीं होती जिसकी वजह से उनकी मौत हो जाती है. अगर हॉस्पिटल नजदीक हो तो ठीक, और अगर ना हो तो क्या किया जाए.

 

तो ऐसे में अगर आपके पास जानकारी होगी और आप होशियारी से काम लेंगे तो आपकी जान बच सकती है.

इसलिए मैं यहां आपको बताऊंगा कि सांप के काटने पर सबसे पहले क्या किया जाए.

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

 

रोगी को घबराना नहीं चाहिए

भारत में कुल 560 प्रकार के सांपो की प्रजातियां हैं जिनमे से केवल 15 प्रजातियां ही ऐसी हैं जो जहरीली होती हैं. बाकी 545 प्रजातियों के काटने से इंसान की मौत नहीं हो सकती.

बस सूजन, बेहोशी, उलटी जैसी तकलीफें होती हैं जो बाद में ठीक भी हो जाती हैं.

आपको एक बात बता दूँ कि अधिकतर लोगों की मौत सांप के काटने से नहीं बल्कि सांप के काटने के डर से होती हैं.

यानी किसी सांप के काटने के बाद लोग घबरा जाते हैं और हार्ट-अटैक से मर जाते हैं. जबकि उस सांप का जहर जानलेवा भी नहीं होता.

 

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

 

भारत में सबसे जहरीला सांप है कोबरा. कोबरा के काटने के बाद इंसान को बचाना लगभग नामुमकिन है, लेकिन इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप काफी हद तक किसी को भी बचा सकते हैं.

 

सांप के काटने के बाद सबसे पहले तो आदमी को घबराना बिलकुल भी नहीं चाहिए.

ऐसा करने से पीड़ित अगर घबराएगा तो घबराने से उसकी खून की रक्तचाप बढ़ने लगेगी और जहर शरीर में जल्दी से फैलने लगेगा और पीड़ित की मृत्यु हो जायेगी.

 

ज़रा आप सोचिये कि हो सकता है कि आपको बिना जहर वाली सांप की किसी प्रजाति ने काटा हो तो आप बेवजह ही डर से चिंता कर रहे हैं.

लेकिन अगर किसी काले रंग के जहरीले सांप ने काटा है तो होशियारी से काम लेना होगा तो ही आपकी जान बच सकती है.

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

 

सांप का जहर कैसे फैलता है

सांप के दो दांत होते हैं जो उसके मुँह में ऊपर की तरफ होते हैं. जब किसी व्यक्ति को कोई सांप काटता है तो यही दांत उसके मांस में धंस जाते हैं और शरीर में जहर धीरे धीरे फैलने लगता है.

जहर फैलने पर शरीर के अंग काम करना बंद करने लगते हैं और इंसान की मृत्यु हो जाती है.

इस पूरी प्रक्रिया के होने में लगभग 3 घंटे का समय लगता यही.

 

सांप शरीर के किसी भी हिस्से में काटे, जहर सबसे पहले दिल तक जाता है और वहा से पंप होता हुआ शरीर के हर हिस्से तक पहुँच जाता है.

जहर के पूरे शरीर में फैलने पर शरीर के अंग धीरे धीरे शिथिल हो जाते हैं और काम करना बंद कर देते हैं.

 

जहर के पूरे शरीर में फैलने में कम से कम ३ घंटे का समय लगता ही है इसलिए बिना समय गंवाते हुए होशियारी से काम करें क्योकि आपके पास 3 घंटे का समय है.

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

 

सांप काटने पर सबसे पहले क्या करें

अगर आपके पास कोई हॉस्पिटल नहीं है तो बिलकुल नहीं घबराना है और जहर को शरीर से निकालने की कोशिश करनी है.

जहाँ सांप ने काटा है उस अंग को तुरंत किसी ब्लेड से काटकर अलग कर देना चाहिए, ऐसा  जहर भी शरीर से बाहर निकल जाएगा.

अगर आपके पास ब्लेड नहीं है या आप ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो उस अंग को किसी कपडे या रस्सी से कसकर बाँध लें जिससे उस अंग का खून बहना बंद हो जाएगा और जहर शरीर में जल्दी से नहीं फैलेगा.

जब भी सांप काटे तो सबसे पहले यही करें और उसके बाद ही इसका इलाज करें.

यह भी ध्यान रखें कि जहर को मुँह से चूसकर नहीं निकालना है, क्योंकि ऐसा करने से दुसरे आदमी की भी मौत हो सकती है.

सांप काटे के लक्षण

 

सांप के काटने का इलाज

मैं यहां आपको 2 तरीके बताने जा रहा हूँ….

1). इसके लिए आपको एक खाली इंजेक्शन की जरूरत है जिसको आपको जहाँ सुई लगी रहती है वहां से काटकर रख लेना है या उसकी सुई वाले हिस्से को बिलकुल ही बाहर निकाल देना है.

 

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

 

जब भी कोई सांप काटता है तो तुरंत उस इंजेक्शन को काटे हुए हिस्से पर रखकर खून को इंजेक्शन से खींचकर निकाल देना है, जिससे खून के साथ साथ जहर भी बाहर आ जाएगा.

जब तक आपको खून में हल्का सा काला रंग का जहर ना दिखाई दे, तब तक खून को निकालते रहिये.

ऐसा करने पर खून के साथ ही जहर भी बाहर आ जाएगा और आदमी बच जाएगा.

Saanp ke katne par jahar ka Ilaj

 

2). NAJA Tripudians 200

यह दवा किसी भी होम्योपैथिक की दूकान पर आसानी से मिल जाती है. मेरे अनुमान से इसकी 5 ml. की कीमत 50 रूपए है. आप इस 50 रूपए से कई लोगों की जान बचा सकते हैं और यह दवा हर घर में उपलब्ध होनी चाहिए.

दरअसल यह दवाई एक खतरनाक सांप का जहर है क्योंकि एक कहावत सुनी होगी कि लोहे को लोहा ही काटता है.

इसलिए इस दवाई को छोटे बच्चो की पहुँच से दूर ही रखें.

 

दवा लेने की विधि :

NAJA 200 की एक बूंद हर 10 मिनट के अंतराल पर रोगी की जीभ पर डालना है. रोगी की जान को बचाने के लिए सिर्फ 3 बूंद ही काफी होती हैं.

इतना करने से रोगी की जान बच जायेगी, लेकिन इसका इस्तेमाल करने से पहले यह कन्फर्म करना जरुरी है कि रोगी को किसी जहरीले सांप ने ही काटा हो.

 

 

उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को ये आर्टिकल “सांप के काटने पर जहर का इलाज/ Saanp ke katne par jahar ka Ilaj” पसंद आया होगा.

Thanks a lot to be BusinessBharat Blog reader….
Hope you Enjoy & Learn !!

Leave a Reply