How to make Biogas in Hindi/ बायो गैस कैसे बनाये

How to make Biogas in Hindi

How to make Biogas in Hindi/ बायो गैस कैसे बनाये

बहुत से लोग इन्टरनेट पर बायोगैस बनाने के बारे में सर्च करते हैं और इन्टरनेट पर भी काफी सारे प्रोजेक्ट्स दिए हैं जहाँ पर बायोगैस बनाने की टिप्स दी होती हैं. लेकिन बहुत से लोग जब उसे practically बनाना शुरू करते हैं तो वे कुछ हद तक तो पहुचते हैं लेकिन ज्यादातर लोग flammable gas बनाने में सफल नहीं हो पाते और वे इस काम को बीच में ही छोड़ देते हैं और हार मान जाते हैं. में यहाँ starting से शुरू कर रहा हूँ और उम्मीद करता हूँ कि आप इस बार सफल हों. तो चलिए बात करते हैं How to make Biogas in Hindi”.

चीन में लगभग 50 मिलियन घरों में बायोगैस का उपयोग किया जाता है, स्वीडन में City Bus भी बायोगैस से ही चलती हैं, और तो और मशहुर Victorian England की famous Gas Lamp भी बायोगैस से ही जलती है. कुछ लोग कहते हैं कि ज्यादातर लोग अपने घरों में खाना बनाने और बिजली के लिए बायोगैस का उपयोग नही करना चाहते, जबकि उनको असलियत का तो पता ही नही है. दरअसल इसके पीछे कोई technical कारण नही है, इसके पीछे सिर्फ एक ही कारण है कि जो लोग बायोगैस का बिज़नेस करना चाहते हैं और बायोगैस बनाना चाहते हैं वो पूरी तरह से सफल नही हो पाते बायोगैस बनाने में और इसी वजह से बायोगैस इतनी ज्यादा available भी नही हो पाती कि लोगों के घरों के लिए इसे उपलब्ध कराया जा सके.

बायोगैस बनाने में सबसे ज्यादा अहम रोल होता है अर्किया (Archaea) नामक एक जीवाणु का जो कार्बन डाई ऑक्साइड गैस को कार्बनिक पदार्थों में परिवर्तित करने में सक्षम होता है. ये सिर्फ जीवाणु ही नही हैं बल्कि ये इंसान और जानवर हर किसी के पास हमेशा रहते हैं और हमें इस धरती पर रहने लायक वायुमंडल बनाते हैं. बायोगैस बनाने के लिए हमें ऐसा ही माहौल तैयार करना होगा जैसा अर्किया जीवाणु करते हैं.

 

Steps to making Homemade Biogas

Step1). Airtight Environment और Digester तैयार करें

Anaerobic digester के लिए Ziploc baggie का उपयोग किया जाता है. इस सिस्टम में सबसे ज्यादा मुश्किल तब होती है जब हमें नया waste material डालना होता है वो भी ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में. इसका सबसे अच्छा तरीका जो ही बहुत common भी है आप “Teapot” या “P-trap” shape वाला digester use करें. वैसे ज्यादातर digester भी इसी shape में आते हैं.

इस digester में आप ऑक्सीजन रहित (vaccum) जैसा वातावरण तैयार कर सकते हैं बहुत ही आसानी से. आप या तो ऐसा digester खुद बनाये या मार्किट से भी पता कर सकते हैं (जो कम्पनियाँ बायोगैस से related प्रोडक्ट बनती हों) और सबसे पहले बायोगैस बनाने के लिए digester तैयार करें.

How to make Biogas in Hindi

Step2). Organic waste और पानी की मात्रा

आर्किया जीवाणु ज्यादातर पानी में रहना पसंद करता है, इसलिए जब आप digester में सामग्री डालें तो पानी की मात्रा का भी विशेष ध्यान दें. इस digester का उपरी हिस्सा ठोस होता है. इस digester में 40% आर्गेनिक waste डालें, 50% पानी और बाकी 10% को खाली छोड़ देना है.

How to make Biogas in Hindi

Step3). Maintain Digester Temparature

अब आपको digester के temperature को सही ढंग से maintain करना है, जिससे digester में waste को गैस में बदलने की प्रक्रिया बहुत तेजी से होती है. जब digester सही तापमान पर गर्म रहता है तो आर्किया भी तेजी से waste material को बायोगैस में convert करता है.

Digester temperature को maintain करने के भी कई तरीके होते हैं. चीन में इनको जमीन के अंदर underground करके बनाया जाता है और काफी बड़े बड़े digester बनाये जाते हैं, जिससे जाड़ों के मोसम में ये overloaded हो जाते हैं और गर्म भी रहते हैं और जाड़ों में भी बायोगैस आसानी से बनाई जाती रहती है.

अब तो काफी अच्छे और advanced सिस्टम भी शुरू हो गये हैं जिनमे heat exchanger का उपयोग किया जाता है जिसमे digester को गर्म करने के लिए सोलर पैनल का उपयोग किया जाता है. अपने digester का डिज़ाइन तैयार करने के बाद इस बात का ध्यान रखे कि digester को गर्म रखने के लिए बायोगैस या किसी अन्य fuel का उपयोग ना करें (सोलर पैनल भी एक अच्छा माध्यम है digester को गर्म रखने के लिए). एक बात और जो energy source आप digester को गर्म करने के लिए use कर रहे हैं उसकी एनर्जी ज्यादा waste भी नही होनी चाहिए, क्युकी इससे क्या होगा कि आप एक एनर्जी fuel को तो बना रहे हैं और दुसरे fuel को waste कर रहे हैं मलतब आप कुछ नही बना रहे सिर्फ टाइम पास कर रहे हैं.

How to make Biogas in Hindi

 

Step4). pH value का ध्यान रखें

जैसे Aerobic compost में natural pH एक महत्वपूर्ण parameter होता है वैसे ही anaerobic digestion में भी होता है. अगर हम digester के inlet का pH value measure करते हैं तो ये neutral से थोडा कम ही होता है, आमतौर पर 5.5 के आसपास, क्युकी यह पर हमारा material acid में convert होता है. जब ये acids मीथेन गैस में convert होता है तो pH value neutralize हो जाती है, और जब liquid bio-fertilizer digester के outlet से बाहर आता है तो इसका pH value 7 होनी चाहिए. अगर pH 7 से कम आती है इसका मतलब है कि या तो हमारा digester over-fed हो गया है या फिर वो low pH होने के कारण सही से काम नही कर पा रहा है. अगर inlet पर pH value 5.5 से भी कम है तो digester में लकड़ी की राख या चुना मिला देना चाहिए और एक बात और कि अगर digester गड़बड़ कर रहा है तो इसमें बुलबुले नही बनेगें और digester के airlock में पानी भी आ जायेगा. अगर आप फिर से इसी digester को start करना चाहते हैं तो इसमें काफी ज्यादा time लग सकता है तो इससे अच्छा है की आप नये सिरे से फिर से शुरुआत करें.

मैने इस स्टेप में कुछ बातें ऐसी बताई हैं जो शायद आपको इन्टरनेट पर इतने अच्छे से कोई ना बता पाए, आपको pH value का बहुत ज्यादा ध्यान रख कर ही काम करना है.

Step5). C:N Ratio

जैसे aerobic composting process में C:N का अनुपात (ratio) 25:1 होता है, बिल्कुल यही अनुपात आपको बायोगैस production में भी चाहिए होता है. जब आप बायोगैस का प्रयोग कर रहे हों तो मैं आपको मवेशी खाद (cattle manure) use करने की सलाह दूंगा क्युकी इसे use करने पर आप आसानी से 25:1 का C:N ratio प्राप्त कर सकते हैं और compost pit और अच्छा करने के लिए other organic waste भी इसमें मिला सकते हैं.

Step6). कब गैस बननी शुरू होगी

अब बताये गए इन steps के बाद ये जानना बहुत जरुरी है कि अगर आप छोटा बायोगैस digester use कर रहे हैं तो पहले 48 घंटे और अगर बड़ा digester use कर रहे हैं तो पहले कुछ हफ़्तों में आपका digester सिर्फ carbon dioxide (CO2) गैस ही बना पाता है. अगर आप चाहे तो इस CO2 गैस को अग्निशमन यंत्रों (fire extinguishers) के लिए भी दे सकते हैं और profite बिज़नेस कर सकते हैं, लेकिन अगर आप ज्वलनशील गैस (flammable gas) के लिए बायोगैस बना रहे हैं तो आपको और इंतजार करना होगा. जब बायोगैस बननी शुरू हो जाती है तब कुछ आवाज के साथ काले रंग का धुंआ सा निकलने लगता है और उसमे से हाइड्रोजन सल्फाइड (H2S) के कारण सड़े अंडों जैसी गंध (smell) आनी शुरू हो जाती है. ये गंध (smell) इस बात का संकेत है कि digester में बनी गैस अब ज्वलनशील (flammable) हो चुकी है.

 

इन steps में जो जानकारी मैने दी है जो ज्यादातर लोगो को नही होती और यही वजह है जिस कारण से वो बायोगैस को सफल रूप से बनाने मैं fail हो जाते हैं. जिन्दगी में सफलता हासिल करने के लिए हमें धेर्य रखना जरुरी होता है और जो इंसान अपने उपर भरोसा करके मेहनत करता है वो यकीनन एक न एक दिन सफल जरुर होता है.

Also Read:

Solar Business kaise start kre in Hindi/ सोलर बिज़नस कैसे करें

How to install Solar panel in Hindi/ सोलर पैनल कैसे इनस्टॉल करें

Best Essay on Solar Energy in Hindi/ सौर ऊर्जा पर निबंध

Gobar gas Plant ka Design Kaise bnaaye

उम्मीद करता हु कि आपको ये आर्टिकल How to make Biogas in Hindiकाफी पसंद आया होगा, सभी को शुभकामनायें !!

Thanks a lot to be BusinessBharat Blog Reader…

Hope you enjoy & Learn..!!

2 Comments

  1. Dharmaram November 25, 2017
    • Deepanshu Saxena November 25, 2017

Leave a Reply