Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

3D Printing & How it works in Hindi/ 3D प्रिंटिंग क्या है और कैसे काम करती है

3D Printing & How it works in Hindi

3D Printing & How it works in Hindi/ 3D प्रिंटिंग क्या है और कैसे काम करती है

जब मैं छोटा था तो कभी कभी फोटो स्टेट की मशीन देख कर सोचता था कि क्या होगा अगर मैं इसमें कागज की जगह कुछ चीज़ जैसे खिलोने रख दूँ तो… क्या एक नया खिलोना बन कर आ जाएगा…?? पहले तो ये बस एक सपने जैसा ही था लेकिन अब ये सच हो गया है. जब कभी भी हम इन्टरनेट पर नयी टेक्नोलॉजी के बारे में सर्च करते हैं तो 3D printer भी हमें देखने को मिलता है, यही वो device और अविष्कार है जिसने ये संभव किया है. तो यहाँ हम इसी मजेदार टॉपिक पर बात कर रहे हैं कि 3D प्रिंटिंग क्या है, ये कैसे काम करती है और future में ये टेक्नोलॉजी किस हद तक क्या क्या काम कर सकती है, तो चलिए शुरू करते हैं “3D Printing & How it works in Hindi”.

 

3D प्रिंटिंग क्या है…??

3D प्रिंटिंग को जानने से पहले हमें ये जानना बहुत ही जरुरी है कि 3D क्या होता है. वैसे तो काफी लोग पहले से ही जानते होंगे कि 3D का मतलब होता है 3 Dimensional. आप सभी ने 2D image के बारे में तो सुना ही होगा जिसका मतलब है दो dimensional जिसको आप दो तरफ से देख सकते हैं. अब तो 3D गेम और मूवी भी आ रही हैं जिनको देख कर ऐसा लगता है कि जैसे वो बिल्कुल आपके सामने वास्तव में ही हों. मैं एक example देकर समझाता हूँ तो जैसे जब हम किसी कागज़ की फोटो कॉपी करवाते हैं तो उसमें कागज़ डाला जाता है और बिल्कुल same to same वैसा ही कॉपी होकर दुसरा कागज़ आ जाता है, बिल्कुल वैसे ही 3D printer किसी भी चीज़ या object की same to same दूसरी copy बना सकता है. जैसे मान लीजिये कि मुझे कोई बॉल (गेंद) की copy करके दूसरी बॉल बनवानी है तो मुझे इसके लिए कंप्यूटर में इसका design बनवाना होगा और 3D printer सीधे आपके लिए बिल्कुल वैसी ही नयी बॉल बना कर तैयार कर देगा.

3D प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी से किसी भी object की copy आप बना सकते हैं जो आप चाहें. ये बहुत ही अच्छी और नयी टेक्नोलॉजी है जिसका उपयोग काफी अच्छे तरीके से लोग कर रहे हैं और कहाँ कहाँ कर रहे हैं इसके बारे में आगे बात करते हैं.

 

 

3D Printing & How it works in Hindi

 

3D Printer कैसे काम करता है…??

आपने बहुत जगह पर देखा होगा कि जब कभी भी कोई नया घर या बड़ी बड़ी बिल्डिंग बनाई जाती हैं तो बनाने से पहले उसका मॉडल तैयार किया जाता है, पहले तो लोग सिर्फ कागज़ पर ही इसको बना लेते थे लेकिन अब उसका 3D मॉडल बनवाया जाता है और उसको architecture से पास करवा कर ही बिल्डिंग बनाना शुरू किया जाता है, ये बात तो आप जानते ही हैं.

ऐसे ही 3D प्रिंटर का एक software आता है Blender, जिसमें हम जिस object को हमें बनाना है उसका 3D मॉडल कंप्यूटर में बनाया जाता है, फिर उसके बाद कंप्यूटर में बनी Blender सॉफ्टवेर की 3D फाइल को 3D printer में डाला जाता है जिससे printer किसी भी चीज़ से जैसे normally तो plastic का ही use किया जाता है 3D object बनाने के लिए, तो उस मॉडल को प्लास्टिक का बिल्कुल same to same बना कर तैयार कर देगा.

3D प्रिंटर में बहुत से material use किये जा सकते हैं जैसे कि प्लास्टिक, रबर, कॉपर, लोहा…आदि. जिस material से भी आपको अपना object बनवाना है उस material के ही 3D printer को use करना होता है.

 

3D प्रिंटिंग का उपयाग कहाँ कहाँ पर किया जा रहा है….??

3D प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी अब तो काफी आगे तक बढ़ चुकी है, अब तो इंसान से शरीर के parts भी इससे बनाए जा रहे हैं जैसे दांत, कान, हडियों के पार्ट आदि भी बनाए जा रहे हैं. जैसे किसी इंसान की कोई हड्डी टूट गयी या कान कट गया या फिर नए दांत लगवाने हैं तो ये सभी parts भी 3D प्रिंट से ही बनाये जा रहे हैं.

जैसे पहले लोग अपने मोम के पुतले बनवाया करते थे कि जिससे बुढ़ापे में देख सकें कि हम जवानी में कैसे दीखते थे, तो पहले तो ये पुतले पत्थर के बनाये जाते थे जिसमें काफी समय लगता था, लेकिन अब लोग अपने आप को 3D प्रिंटर के लिए स्कैन करवा रहे हैं और 3D प्रिंटर से अपने पुतले भी बनवा रहे हैं.

जापान में तो ये टेक्नोलॉजी काफी आगे निकल चुकी है, वहां के एक इंजिनियर ने 3D प्रिंटिंग से पूरा घर ही तैयार कर डाला, जिसको बनाने के लिए उसको सिर्फ 4-5 दिन ही लगे. अब आप सोच सकते हैं कि जहां घर बनाने में महीनो लग जाते हैं वहां सिर्फ 4-5 दिन में ही पूरा घर बन कर तैयार हो गया, कमाल की बात है….

 

3D प्रिंटिंग में कौन सा software use किया जाता है…??

3D मॉडल की file एक सॉफ्टवेर में बनायीं जाती हैं जिसका नाम है Blender, जिसकी file .AMF फॉर्मेट में होती हैं. अगर आपको किसी कंप्यूटर में .amf की कोई फाइल दिखती है तो समझ जाईयेगा कि ये 3D प्रिंट की फाइल है. AMF का means होता है Additive manufacturing File. अगर आप google में सर्च करते हैं Top 3D modeling software तो सबसे पहले आपको Blender software ही दिखाई देगा.

 

3D प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी वास्तव में एक लाजबाब तोहफा है विज्ञान का जिसने तो मार्किट का जैसे नक्शा ही बदल कर रख दिया है. वैसे तो ये टेक्नोलॉजी उन्नति के काफी सारे रास्ते एक साथ खोलती है लेकिन अगर कोई इसका गलत तरीके से इस्तेमाल करना चाहे तो काफी खतरनाक भी साबित हो सकता है जैसे कि हथियारों का निर्माण. अभी तक तो हथियार सिर्फ particular registered companies ही बनाती थीं लेकिन 3D प्रिंटर से कोई भी अब इनको आसानी से बना सकता है. तो जैसा कि कहावत है कि विज्ञान एक वरदान है और अभिशाप भी, सच साबित होती है.

 

Also Read:

How Loudspeakers works in Hindi/ लाउडस्पीकर कैसे काम करता है

How Batteries works in Hindi/ बैटरी कैसे काम करती है

5 New Future Technology 2018 in Hindi/ 2018 में आने वाली नयी टेक्नोलॉजी

उम्मीद करता हूँ कि “3D Printing & How it works in Hindi” आर्टिकल आपको पसंद आया होगा.

Thanks a lot to be BusinessBharat Blog Reader…

Hope you enjoy & Learn..!!

2 Comments

  1. Hindi Me Tech Gyan August 3, 2018
  2. Vishal Prajapati October 30, 2018

Leave a Reply